Skip to main content

Growth in piglets (Pig Farming)


HOW CAN BE TAKE GOOD GROWTH IN PIGLETS ?
Mostly here in North India, Many farmers faces the slow growth issue in their piglets after weaning, I personally observed 98% failure in pig farming is just because of slow growth of pigs. To take better growth you have to follow these following points which are as under...
  1. Feeding your pig properly.
  2. Select a protein source. (Fish powder, Meat bone meal, Blood meal, Rice gluten, Soya DOC, Cotton seed cake etc...) 
  3. Choose a grain for your pigs. (Corn, Wheat, Rice, Barley etc...)
  4. Give feed to your pigs with a high fat content.
  5. Feed your pigs food that is low in fiber.
  6. Increase the amount of food the pig is eating.
  7. Add supplements to the pig's diet. (Trace vitamins and minerals, enzymes, Amino acids, Calcium,Iron, Zinc, Phosphorus etc...) 
  8. Make the food more appealing.
  9. Floor cleaning (Manure generates NH3 and CH4 gases, which is harmful for growth of piglets)
Creep feed
Creep Feed is the baby piglets' first and most important dry food
A combination of protein source, milk replacer, vitamins, amino acids and rich feed ingredients makes this complete feed the ideal start for young healthy piglets.

You can make your own starter pig feed by this formula also ...
  • Corn                       -             56.6 kg
  • Fish Meal               -             17.4 kg
  • Soya DOC              -             20.2 kg 
  • Celsite powder       -             05.6 kg 
  • L-Lycin                  -             50 gm 
  • Thryonine               -             50 gm 
  • Pre-Mix Powder     -             250 gm 
  • Salt                         -             500 gm

What is the best food to pigs?
Pigs can eat all kinds of scraps, or leftover food such as mealie-pap, bread, vegetables, fruit and pig pellets. Real pig pellets are, however, the best feed. Do not only feed one vegetable (such as cabbage), because pigs need a varied diet to stay healthy.

How much do you feed to piglets?
The one rule of thumb that I have found is 1 lb per day per month of age. So, a 4 month old piglets should be fed 4 pounds of feed per day.

How many times should a pig be fed?
I recommend feeding twice a day, once in the morning, and once in the evening, and as close to 12 hours apart as you can get. For example, an ideal time would be 7 a.m. and 7 p.m. each day.

Most Important thing is TEMRATURE of shade which must be 25'C to 30'C for best piglet growth.

Thanks to read this blog.
Any question / Query contact us.

Gaur Agro
BSR, Uttar Pradesh
Mobile - 09761491000
E-mail - gauragro@gmail.com








Comments

Popular posts from this blog

HOW TO START PIG FARM IN INDIA

Hello Guys, We "Gaur Agro Farm" from Distt. Bulandshahr (Uttar Pradesh). We are running a pig farm in Distt. Bulandshahr with scientific infrastructure and trained workmen. We had started our pig farm in 2012 . Presently We are totally satisfied with our business and profitability after 2 year's struggle in pig farming :) If you are planing to start your pig farm then We must say you are on right track for your success but you have to understand no success comes without struggle and hardworking. Most of the people think that pig farming is very easy task and this is part time business but that type of thinking is the main cause for the failure of pig farm. This blog is for 2 unit (20 females + 03 Males) live stock. Few points which are as under are useful in starting of your pig farm. 1. You have your own land. (Farming/Agriculture Land) 2. Shade for the animals. 3. Electricity connection. 4. Availability of fresh water. (Submer Sirbal) 5. Wastage area f

फीड सस्ती और ग्रोथ जबरदस्त

कैसे करें अपने पिग्स की अच्छी ग्रोथ  दोस्तों ,  आजकल देखा जा रहा है कि जितनी सफलता पिग फार्मर्स को मिलनी चाहिए उतनी सफलता किसानो को नहीं मिल पा रही है जिसके कई कारण हैं जैसे कि ... सही फीड फार्मूला का न मिल पाना।  फीड कंपनियां फीड की कीमत को लगातार बढ़ाते जा रही हैं और जो मुनाफा किसान को होना चाहिए उसका लगभग आधा या उससे अधिक मुनाफा फीड कम्पनियो की जेब में चला जाता है।  फेटनिंग के जानवरों को ब्रोकर सही कीमतों पर नहीं खरीदते , आज के समय में (जनवरी 2020) में जब फेटनिंग के जानवरो की कीमत 120 रु प्रति किलोग्राम (जीवित) है तब भी अधिकतम ब्रोकर / ट्रेडर ऐसे हैं जो ड्राई फीड बेस्ड जानवरो की कीमत 105 रु प्रति किलोग्राम से शुरू करते हैं।  जानवरों को सही तरीके से रखरखाव की व्यवस्था का न होना।    पिग फार्मर्स में एकता न होना।  परेशान किसान  स्वस्थ जानवर  अब आते हैं आज के मुद्दे पर , कि सही मुनाफा लेने के लिए किस तरह की व्यवस्था करी जाय जिससे सही समय में सही ग्रोथ हो और फीड की कीमत भी अनाप शनाप तरीके से न बढे। अच्छी बढ़वार के लिए पिग फीड में संतुलित मात्रा में सोया खली जरू

All Type of Pig Feed Formula

प्रिय किसान भाइयो, जब आप रेडीमेड फीड बाहर से किसी डिस्ट्रीब्यूटर से लेते हैं तो कम से कम 1रु प्रति किलो का प्रॉफिट तो डिस्ट्रीब्यूटर रखता है और कम से कम 2 रु प्रति किलोग्राम का प्रॉफिट कंपनी भी रखती है और इसमें डिस्ट्रीब्यूटर तक फीड पहुचने का किराया भी कम से कम 1 रु प्रति किलोग्राम तो आता ही होगा , फिर उसके बाद आप भी कुछ किराया खर्च करते ही होंगे । अतः ..... अब किसी भी तरह की रेडीमेड पिग फीड लेने की जरुरत नहीं, आपका पैसा कीमती है, इसे बचायें। जितना एक्सट्रा पैसा फीड कम्पनियो को देते हैं , गरीबों में दान कर दें सुकून मिलेगा।  :) आजकल सबसे ज्यादा समस्या सूकर पालको को फीड की होती है , क्यूंकि सही और वैज्ञानिक आधार पर पिग फीड बनाना बहुत से किसान भाइयो को नहीं आता है और पुराने सफल पिग फार्मर अपनी फार्मूलेशन नहीं देते हैं। आज इसी समस्या को ख़त्म करने के लिए मैंने यहाँ पिग फीड बनाने के कई फॉर्मूले बताये हैं ,आप भी अब किसी रेडीमेड फीड कम्पनी को अपने हिस्से की प्रॉफिट के पैसे को देने से बच सकते हैं। ड्राई फीड  पिग फीड हमारे हिसाब से चार तरह की होती है। ब्रीडर फीड  ( बच्चे देने वाल